लड़कियों के पीरियड्स में दर्द से राहत दिलाती है ये घरेलू उपाय

लड़कियों के पीरियड्स में दर्द से राहत दिलाती है ये घरेलू उपाय

मुलेठी एक ऐसी आयुर्वेदिक औषधि है जो कई बीमारियों से बचाती है। इसी के साथ मुलेठी एक ऐसी आयुर्वेदिक औषधि है जिसमें कैल्शियम, वसा ग्लिसराइजिकऐसिड, एंटीऑक्सिडेंट, एंटीबायॉटिक व प्रोटीन अधिक मात्रा पाई जाती है।

मुलेठी के फायदे:

मुलेठी पीरियड्स के दौरान होने वाले दर्द में भी बहुत ज्यादा राहत मिलती है। पीरियड्स के दौरान अगर आपको ब्लड फ्लो ज्यादा हो रहा है तो भी आप पानी में 2 टी स्पून मुलेठी पाउडर, 4 ग्राम मिश्री मिलाकर पी सकती हैं।

मुलेठी स्किन व बालों की समस्या के लिए भी बेहद अच्छा है। आप सभी को बालों और स्किन के लिए इसे इस्तेमाल करने के लिए मुलेठी व आंवले का चूर्ण बनाकर पानी के साथ पीना होगा।

मुलेठी शरीर से थकावट को भी दूर करती है। इसके लिए 2 ग्राम मुलेठी पाउडर को 1 टी स्पून घी व 1 टी स्पून शहद के साथ गर्म दूध में मिक्स कर पिएं।

अगर आपको अल्सर की समस्या है तो आप नियमित रूप से 1 गिलास दूध के साथ 1 टी स्पून मुलेठी पाउडर लेकर दिन में 2 या 3 बार पी सकते हैं।


स्किन इन्फेक्शन में फायदेमंद है नीम, ऐसे करें उपचार

स्किन इन्फेक्शन में फायदेमंद है नीम, ऐसे करें उपचार

किसी भी तरह के संक्रमण या त्वचा संबंधी रोग, जानवर के काटने या बाहरी रूप से कोई चोट लगने पर विशेषज्ञ नीम का प्रयोग करने की सलाह देते हैं। यह बाहरी रूप से संक्रमण को खत्म कर तुरंत राहत देता है। संक्रमण से बचाव : नीम की पत्तियों में खासकर यदि पत्तियां ताजा हों तो इनमें एंटीबैक्टीरियल, एंटीफंगल और एंटीवायरल गुण काफी मात्रा में पाए जाते हैं।

नीम का सेवन:

गैस पर धीमी आंच पर एक भगोने पानी में नीम की 20-25 पत्तियों को उबालें, ठंडा होने पर छानें और इससे नहाएं। इससे शरीर पर होन वाली खुजली व दानें आदि की समस्या खत्म होगी।

ब्लैकहेड्स, वाइटहेड्स जैसी त्वचा संबंधी समस्याओं में भी नीम उपयोगी है। इसके लिए कुछ पत्तियों को चटनी की तरह पीसकर दही, शहद या दूध में मिलाकर पेस्ट की तरह चेहरे पर लगाएं।

त्वचा पर उभरने वाले मुहांसों को दूर करने में भी इन पत्तियों को प्रयोग में ले सकते हैं। इसके लिए नीम की पत्तियों वाला गुनगुना पानी मुंह धोने में इस्तेमाल करें।