अमेरिका ने उत्तर कोरिया पर फिर लगाए प्रतिबंध

अमेरिका ने उत्तर कोरिया पर फिर लगाए प्रतिबंध
अमेरिका ने एक बार फिर उत्तर कोरिया पर प्रतिबंध लगा दिए हैं. इसके पीछे का कारण इस राष्ट्र के मिसाइल कार्यक्रम को बताया जा रहा है. अब समाचार आई है कि अमेरिका ने उत्तर कोरिया में सत्तारूढ़ दल की केंद्रीय समिति के तीन सदस्यों पर राष्ट्र के बैलेस्टिक मिसाइल कार्यक्रम में शामिल रहने के आरोप में प्रतिबंध लगाए हैं. अमेरिकी वित्त विभाग ने बयान जारी कर इसकी जानकारी दी. अमेरिकी वित्त विभाग ने बोला है कि इसने वर्कर्स पार्टी ऑफ कोरिया के निदेशक तथा उप निदेशक क्रमश: जॉन इल हो तथा यू जिन को प्रतिबंधित कर दिया है, इसके अतिरिक्त केंद्रीय समिति के एक अन्य सदस्य किम सू गिल पर भी प्रतिबंध लगाया है.

वित्त विभाग ने बोला कि उनके बैंक खातों और अन्य आर्थिक संपत्तियों को फ्रीज कर दिया गया है तथा उनके साथ किसी प्रकार का लेन देन अथवा व्यवसाय करने से अमेरिकियों को प्रतिबंधित कर दिया गया है. दक्षिण कोरिया ने इस वर्ष बैलेस्टिक मिसाइल कार्यक्रम की गति बढाते हुये 60 से अधिक परीक्षण किये हैं, जिसके बाद अमेरिका और दक्षिण कोरिया पर दबाब बढ़ गया है. वित्त विभाग ने एक बयान जारी कर बोला कि संयुक्त देश के प्रस्ताव का उल्लंघन करते हुये उत्तर कोरिया के हथियारों को विकसित करने में तीन ऑफिसरों ने ‘‘महत्वपूर्ण किरदार निभाई’’ और 2017 के बाद बड़ी संख्या में बैलेस्टिक मिसाइलों के परीक्षण में पर्सनल रूप से शामिल रहे .

इन तीनों को इससे पहले यूरोपीय संघ ने भी दंडित किया था तथा उत्तर कोरिया की सत्तारूढ़ पार्टी के विरूद्ध पूर्व में लगाए गए अमेरिकी प्रतिबंधों के दायरे में भी इन तीनों को शामिल किया गया था.